मेरी यात्राएं

यात्राएं अनेक प्रकार की होती हैं- तन की, मन की, विचारों की, कल्पनाओं की.....और इन सभी की सम्मिलित चर्चा कहलाती है-जीवन यात्रा।.....तो आइए, हम साझा करें अपनी- अपनी यात्राएं !

4 टिप्‍पणियां:

  1. unka yayavar ho jana
    mousam ka aana our jana
    koyal ka dukh jab basant ho jata
    utsav sa lagta uska gana ................
    aapko sammaan ki lakh,lakh .....badhaiya......

    उत्तर देंहटाएं
  2. धन्यवाद, ओपी यादव जी!आपकी काव्य पंक्तियां सुन्दर हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. you are incredible ....Please guide me on http://gargi-munjal.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. Harpreet ji,
    Hearty Thanks for your comment...
    You are always welcome in my blog.

    उत्तर देंहटाएं